सिर्फ 1 दिन में बनाइए आम का इतना टेस्टी अचार मैंगो पिकल रेसिपी छिलके (छोलन, झूना )

 

बिना धूप ऐसे बनाए सालों चलने वाला आम का चटपटा अचार-Aam ka Achar Recipe in hindi-Mango Pickle Recipe

आम का पारंपरिक अचार बनाने की विधि|TraditionalMango Pickle||Achar Recipe|Traditional Aam ka Achar

Gudiya
बिना धूप ऐसे बनाए सालों चलने वाला आम का चटपटा अचार-Aam ka Achar Recipe in hindi-Mango Pickle Recipe , Punjabi Mango Pickle Recipe - Punjabi Aam ka Achaar,Aam ka khatta achar in hindi/आम के अचार को इस तरीके से बनाओगे तो 5 साल तक भी अचार खराब नही होगा/अचार, 2 चम्मच तेल से बना सालों चलने वाला आम का चटपटा अचार-Aam ka Achar Recipe in hindi-Mango Pickle Recipe
5 from 3 votes
Prep Time 10 mins
Cook Time 10 mins
10 mins
Total Time 30 mins
Course Pickle
Cuisine Indian
Servings 500 ग्राम आचार
Calories 100 kcal

Ingredients
  

  • 500 ग्राम आम
  • 1 चम्मच लहसुन का पेस्ट
  • 1/2 चम्मच लाल मिर्च खड़ा पाउडर
  • 1/2 चम्मच कलौंजी मगरैल खड़ा
  • 1/2 चम्मच सौंफ पाऊडर
  • 1/2 चम्मच कश्मीरी लाल मिर्च पाउडर
  • 1/2 चम्मच भुने जीरा का पाउडर
  • 1 चम्मच पिली सरसो का पाउडर
  • 1 चम्मच भुना धनिया का पाउडर
  • 1/2 चम्मच भुनी मेथी का पाउडर
  • 1/2 चम्मच पीला सरसो दाना
  • 10 चम्मच सरसो का तेल
  • 1 चम्मच हल्दी का पाउडर
  • 1 चम्मच नमक

Instructions
 

  • आम का अचार बनाने के लिए सबसे पहले हम 500 ग्राम आम को धूल कर अच्छे से रख लेंगे ।
  • उसके बाद उसका ऊपरी भाग कट करके अलग कर देंगे और इसका हरा वाला हिस्सा भी छील कर अलग कर देंगे ।
  • हम यहां पर छिलके का अचार बनाएंगे तो आम के हमको छिलके निकालने हैं और इस बात का ध्यान रखना है कि हारा वाला पार्ट नहीं लेना है ।
  • जब हमारे सभी आम छील कर रेडी हो जाए तब हम इसमें हल्दी और नमक लगाकर छत पर रख देंगे धूप में सूखने के लिए ।
  • इस अचार को 5-6 घंटे की धूप जरूरी होती है वरना यह खराब हो जाता है और इसमें फफूंद लग जाती है ।
  • इसके बाद हम इसमें मसाले मिलाएंगे ।
  • यहां पर हम अचार के साथ ही लाल मिर्ची को भी धूप में सुखा लेंगे । साथ में और सभी मसालों को भी धूप में सुखाकर भून लेंगे और लहसुन का थोड़ा सा पेस्ट भी बना लेंगे ।
  • आम का अचार बनाने के लिए सबसे पहले हम अपने अचार में लहसुन का पेस्ट, कूटी हुई लाल मिर्च कलौंजी मसाला, सौंफ पाउडर , सफेद नमक, कश्मीरी लाल मिर्च पाउडर, भुना हुआ जीरा पाउडर, धनिया पाउडर, मेथी दाना पाउडर, पीली सरसों का पाउडर, को अच्छे से मिक्स करेंगे
  • फिर उसमें सरसो का तेल आवश्यकतानुसार डालेंगे ।
  • उसके बाद हम इस अचार को एयरटाइट कंटेनर में रख देंगे ।
  • एक हफ्ते बाद यह अचार बनकर रेडी हो जाता है खाने के लिए ।
  • अचार बनाने की वीडियो आप हमारी यूट्यूब चैनल cookingexam पर जा कर भी देख सकते हैं ।
  • यदि रेसिपी अच्छी लगती है तो लाइक शेयर सब्सक्राइब करना ना भूलिएगा ।
  • इसी तरह की बहुत सारी अचार की रेसिपी आप हमारी यूट्यूब चैनल पर अचार वाली प्ले लिस्ट में जाकर देख सकते हैं ।

Video

Keyword अचार, आम, खट्टा अचार
आम का ऐसा अचार बनाएंगे तो आप चार  रोटी एक्स्ट्रा खाएंगे | Mango pickle Instant Recipe
नमस्कार दोस्तों कैसे हैं आप। आशा करते हैं कि आप ठीक होंगे स्वस्थ होंगे। आज हम आम के एक बहुत ही ट्रेडिशनल अचार बनाएंगे। यह पहले बनता था लेकिन आजकल इस अचार के बारे में लगो को पता नहीं होता। इस वजह से ज्यादा लोग इसको बनाते नहीं है। 

यह आम को छिलके से बनाया जाता है। इसे आम का झूना अथवा आम का छोलन  का अचार भी कहते हैं।  यह खाने में बहुत ही टेस्टी होता है। बहुत सिंपल तरीके से बन जाता है और सबसे अच्छी बात की  यह अचार  दो दिन में खाने के लिए तैयार हो जाता है।

इसे आप बहुत आसानी से बना सकते हैं। चलिए फिर आम का अचार बनाना शुरू करते हैं।
 

सामग्री 

  • 5०० ग्राम आम
  • १ चम्मच लहसुन का पेस्ट
  • १/२ चम्मच लाल मिर्च खड़ा पाउडर
  • १/२ चम्मच कलौंजी (मगरैल ) खड़ा
  • १/२ चम्मच सौंफ पाऊडर
  • १/२ चम्मच कश्मीरी लाल मिर्च पाउडर
  • १/२ चम्मच भुने जीरा का पाउडर
  • १ चम्मच पिली सरसो का पाउडर
  • १ चम्मच भुना धनिया का पाउडर
  • १/२ चम्मच भुनी मेथी का पाउडर
  • १/२ चम्मच पीला सरसो दाना
  • १० चम्मच सरसो का तेल
  • १ चम्मच हल्दी का पाउडर
  • १ चम्मच नमक
 

अच्छे आम का चुनाव और आम खरीदना
आम के छिलके का झटपट अचार बनाने के लिए पहले हम आम का चुनाव करते हैं। आम का चुनते समय कुछ बातों को हम को जरूर से ध्यान में रखना चाहिए।
हमेशा आप आम मीडियम साइज का लेंगे। यदि आप बड़े साइज का आम लेंगे तो वह ज्यादा खट्टा नहीं होगा। छोटे साइज का लेंगे तो उसका टेस्ट उतना अच्छा नहीं आता।
आम हमेशा मोटे दल वाले लेंगे और पतले छिलके  वाले लेंगे।
इसके साथ आम खरीदते समय इस बात का भी ध्यान रखना होता है कि कच्चा आम एकदम टाइट हो और वह गीला ना हो अथवा पका ना हो।
इसके साथ हमको इस बात की भी सावधानी रखनी पड़ती है कि आम कहीं से कटे-फटे ना हो उसमें दाग ना लगा हो वरना फटे हुए आम से अचार बनाने पर वह आम आपका खराब हो जाएगा। उसमें फफूद भी लग जाएगी, और  कुछ दिन बाद और उसके महक भी बदल जाएगी।
इसलिए आम का चुनाव में बहुत सावधानी करनी है वरना आपका आम का अचार बहुत जल्दी खराब हो जाएगा।
इस प्रकार हम आम खरीद लेते हैं।


आम की कटाई करते हैं और धुलाई
आम की कटाई व धुलाई से पहले आप आम बाजार से ले आकर उसको 2 से 3 घंटे तक पानी में भिगो के रखते हैं। फिर उसके बाद आपको आम को अच्छे से मल कर हाथों से धुलने  के बाद उसको पानी निकल जाने के लिए थोड़ी देर के लिए रख दें।

आम के कटाई और उसका छोलन बनाना
सबसे पहले आप आम के ऊपरी हिस्से को चाकू से काट कर अलग कर देंगे। इसके बाद आम को छीलनि से छील लेंगे। इससे उसकी हरी वाली परत बाहर निकल जाए। क्योंकि हम यहां पर आम का छिलके वाला अचार बना रहे हैं ,इसलिए पूरे आम को हम सिर्फ छीलनि से छील लेंगे  और पतली पतली उसकी लेयर निकालेंगे और हरी वाली लेयर को बाहर कर देंगे।
इस तरह हम सारे आम को छील लेंगे।

नमक हल्दी लगा कर सुखना
आम को छील लेने के बाद इस में हम हल्दी और नमक लगाएंगे। हल्दी और नमक लगाने से उसके सारे बैक्टीरिया मर जाते हैं। इस वजह से हमारा अचार काफी दिन तक टिकता है और  खराब नहीं होता। इसलिए सबसे पहले आप हल्दी और नमक से पूरे आम को अच्छे से मिक्स करें। इस बात को ध्यान रखें कि हम  आम को छील  लेने के बाद उसमें आपको कहीं भी हाथ का यूज नहीं करना है।
हर जगह आप साफ सूखे चम्मच को यूज करना है। चम्मच से ही आप हल्दी नमक को मिक्स करेंगे। यदि आप हाथ लगाएंगे तो या नमी उसमें जाएगी, तब वह खराब हो जाएगा।
फिर उसके बाद नमक लगाने से आम का एक्स्ट्रा पानी बाहर हो जाता है और हल्दी लगाने से उसके सारे बैक्टीरिया मारे जाते हैं और हल्दी एंटीबायोटिक भी होती है।
इसलिए हल्दी को हम अचार में जरूर यूज़ करते हैं। फिर आम केछिलके  वाले अचार बनाने के लिए इसको हम 2 से 3 घंटे तक धूप में सुखाते हैं। इसको आपको धूप में बहुत देर तक नहीं सुखाना है बस 2 से 3 घंटे तक एक कपड़े में रखकर सुखाना है, जिससे कि इसका सारी नमी दूर हो जाए और यह अच्छे से थोड़ा सा सूख जाए।
2 से 3 घंटे के बाद इसमें हम मसाला मिलाएंगे।
एक बार आम का अचार बन जाने के बाद इस अचार को धूप  नहीं  दिखाना होता।

 

मसाले की तैयारी
आम के मसाले वाले अचार में बहुत ज्यादा मसाले नहीं पड़ते हैं। इस आम के अचार में ज्यादातर पाउडर मसाले पड़ते हैं। क्योंकि इसको हमको 2 से 3 दिन में ही खाने लायक बनाना है। इसलिए इसमें हम पाउडर मसाले ज्यादा डालते हैं। इसमें खड़े मसाले बहुत कम अथवा थोड़े बहुत ही डालते हैं।

तो बात करते हैं खड़े मसाले की

लाल मिर्च
खड़े मसाले में सबसे ज्यादा जो इंपॉर्टेंट मसाला अचार में होता है वह होता है खड़ा मिर्चा। इसअचार  में   हरी मिर्च मत डालिएगा।
खड़े लाल मिर्ची को आप धूप में 1 दिन तक सुखा लें। उसके बाद उसका डंठल बाहर करें और मिक्सर में उसका पाउडर बना लें।
खड़ी लाल  मिर्च का पाउडर आप बहुत बारीक नहीं करेंगे। एकदम दरदरा पीस लें इससे भी जिसे अचार में कलर आता है।

 

लहसुन
इसके बाद सबसे इंपॉर्टेंट मसाला जो होता है लहसुन।
लहसुन को आप छील  के  लीजिए उसका पेस्ट बना लीजिए।

 

धनिया
बाकी मसाले जो हैं, उनको हम कढ़ाई में भूनेंगे। इसमें से सबसे ज्यादा हम धनिया को लगभग 5 मिनट तक भूनेंगे लो फ्लेम पर। उसके बाद उसका पाउडर बना लेंगे।

 

जीरा
धनिया के बाद हम जीरा भूनेंगे। जीरे को 2 से 3 मिनट तक ही भूनेंगे और  उसके बाद भी इसका पाउडर बना लेंगे।


सौंफ

 
 
मेथी 
इसके बाद हम मेथी डालेंगे।  मेथी  का भी पाउडर बना लेंगे भून के।
मेथी के बाद हम सौंफ  को डालेंगे। कढ़ाई में और इसको भी 2 मिनट तक भून कर इसका भी पाउडर बना देंगे।

भूनते  समय इस बात का  ध्यान रखना चाहिए की मसाले जले नहीं।

इन सभी मसालों का हम सिर्फ दरदरा  पाउडर बनाएंगे।  बहुत ज्यादा इनका हम बारीक पाउडर नहीं बनाएंगे।

पीली सरसों पाउडर
इसके अलावा हम यहां पर पीली सरसों का भी पाउडर लेंगे। इसे हम भूनेंगे नहीं। सिर्फ इसका और पाउडर बनाएँगे।

पीली सरसों खड़ी  
इसके साथ ही हम पीली सरसों भी लेंगे।

 कलौंजी  
कलौंजी अथवा मगरेल को भी हम 1 मिनट तक कढ़ाई में भून लेंगे। उसके बाद उसको बाहर कर लेंगे। उसको हम खड़ा ही डालेंगे। उसको हम भूनेंगे नहीं।

 

हल्दी नमक हमने पहले ही डाल रखा है। इसलिए अभी हल्दी नहीं डालेंगे।

सरसो  का तेल
सरसो  का तेल का भी यहाँ पर प्रयोग करेंगे। आम के अचार को हमेशा सरसों के तेल में बनाया जाता है। इसलिए हम यहां शुद्ध सरसों के तेल का प्रयोग करते हैं।

तेल नमक को हम अचार डब्बा में भरने के बाद एक आधा चम्मच एक चम्मच डालकर फिर एक्स्ट्रा तेल उसमें डाल देते हैं उससे आचार खराब नहीं होता।

कश्मीरी लाल मिर्च
साथ में हम कश्मीरी लाल मिर्च के पाउडर को भी यूज करेंगें।

आम के छिलके में मसालों को मिलाना
सबसे पहले हम सभी मसालों को ऊपर बताए गए क्वांटिटी के अनुसार मिला लेते हैं और उसको अच्छे से मिक्स करते हैं। फिर लास्ट में तेल डाल कर उनको अच्छे से मिक्स करते हैं। तेल की क्वांटिटी जितनी ज्यादा रहेगी। उससे आप का अचार काफी दिन तक टिकेगा।

 

आम के अचार के लिए डिब्बा
आम के अचार को आप हमेशा कांच के शीशी में रखें। कांच की शीशी को पहले आप अच्छे से धो लें। उसके बाद उसको धूप में सुखाएं। उससे सारे बैक्टीरिया उसके खत्म हो जाते हैं। उसके बाद उसमें कहीं भी पानी नहीं लगा होना चाहिए।
शीशी एकदम सूखी  होने चाहिए।
उसमें हम अचार को डालेंगे चम्मच से।पूरे प्रोसेस के दौरान कहीं भी अचार को आप हाथ से नहीं छुएंगे। किसी मसाले को हाथ से नहीं छुएंगे। सभी जगह आप चम्मच का प्रयोग करेंगे। चम्मच भी एकदम साफ सुथरा होना चाहिए।

 

अचार को रखना
जब पूरे अचार  को हम शीशी में भर देंगे तो उसको थोड़ा सा दबाकर उसके ऊपर आधा चम्मच के आसपास नमक डालेंगे और उसके ऊपर सरसों का  तेल भरेंगे आचार के लेवेल  तक।  और उसके ढक्कन को अच्छे से टाइट कर देंगे।

 

अचार को रखने के लिए जगह का प्रयोग
अचार को कभी भी किचन में नहीं रखना चाहिए। किचन में गर्मी होती है इस वजह से अचार में फफूंद लग  जाती है और खराब हो जाता है। अचार को  कभी भी नमी वाली जगह पर नहीं रखना चाहिए। वरना उससे फफूंद लग जाती है। और इससे अचार खराब हो जाता है।
अचार को हमेशा सूखे और सामान टेंपरेचर वाली जगह में रखना चाहिए अथवा किसी सामान्य कमरे में ही रख देना चाहिए लेकिन कभी भी किचन में  मत रखिएगा।  किचन में काफी गर्मी होती है इस वजह से अचार जल्दी खराब हो जाता है। अचार का प्रयोग करते समय सावधानियां
यह आम का अचार 2 से 3 दिन में खाने के लिए तैयार हो जाता है। जब भी आपको खाना हो तो आप एक साथ चम्मच से अचार को निकालकर कटोरी में रख ले। उसके बाद उसको प्रयोग करें।  बार-बार अचार के ढक्कन को मत खोलें। वरना उससे उसकी महक टेस्ट सब खराब हो जाता है और अचार भी जल्दी खराब होता है। अचार को जितना प्रयोग करना हो उतना निकाल कर एक अलग डब्बे में रखे। उसी से बार-बार  निकाले।

अचार के डब्बे को आप बार-बार मत खोलें। अचार निकालते समय एकदम सूखे साफ चम्मच का प्रयोग करें। उसमें कभी भी हाथ मत लगाएं वरना उससे फफूंद लग जाएगी।

ध्यान देने योग्य बातें
 कभी भी कटे-फटे अथवा चोट लगे आम के अचार ना बनाएं उसको तुरंत बाहर कर दें।
अचार को कभी हाथ से ना मिक्स करें । हमेशा  स्टील के चम्मच का प्रयोग करें।
आम का अचार को थोड़ी-थोड़ी मात्रा में ही मुख्य डब्बे से निकाले। उसके बाद उसको एकदम टाइट बंद करके रख दें। बार-बार मुख्य अचार के डब्बे को ना खोलें।
अचार को किचन अथवा किसी गर्म स्थान पर बिल्कुल भी ना रखें।
साथ में नमी वाले स्थानों से भी अचार को बचाना है वरना उसमें फफूंद लग जाएगी।

शुरुआत में अचार का मसाला में लगाने के बाद जब अचार को  शीशी में आप रखते हैं तब उसके ऊपर नमक और एक्स्ट्रा सरसों का तेल डालना ना भूले इससे अचार की सेल्फ लाइफ काफी बढ़ जाती है।इस तरह यदि आप अचार बनाते हैं। तो कभी खराब नहीं होता और उसकी महक हमेशा बनी रहती है।

यदि आप को अचार की रेसिपी आपको अच्छी लगी हो तो प्लीज सब्सक्राइब करना ना भूलें।

इस अचार की रेसिपी आप हमारे यूट्यूब चैनल पर जाकर देख सकते हैं। 

https://www.youtube.com/channel/UCuR69WllKm2H4nIMQ0o6YqA?view_as=subscriber
दोस्तों फिर भी यदि आपका आम का अचार खराब हो जाता है, तो वह आप बाजार से आम के अचार का एसिड ले आइए। इसे  आम के अचार का एसिड भी बोलते हैं। उसकी १-२ बूँद अचार  में डाल दीजिए। इससे आम का अचार कभी नहीं खराब होता। यह लगभग विनेगर की तरह होता है।  इससे आम का अचार कभी खराब नहीं होता। बाजार के अचार में यही डाला हुआ होता है इसलिए बहार का अचार कभी खराब नहीं होता।

ध्यान रहे कि आपको छिलके का अचार कि सेल्फ लाइफ 2 से 3 महीने होती है। इसलिए आप थोड़ी मात्रा में हे बनाए और  जल्दी प्रयोग कर ले। क्योंकि इस अचार में थोड़ी सी नमी होती है। इसलिए आप इसे जल्दी प्रयोग कर ले।

धन्यवाद

आम का अचार छिलके वाला मसालेदार चटपटा खट्टा पूरी प्रक्रिया मैंगो पिक्चर mango pickle recipe complete details new style

2 thoughts on “सिर्फ 1 दिन में बनाइए आम का इतना टेस्टी अचार मैंगो पिकल रेसिपी छिलके (छोलन, झूना )”

  1. 5 stars
    2 चम्मच तेल से बना सालों चलने वाला आम का चटपटा अचार-Aam ka Achar Recipe in hindi-Mango Pickle Recipe

    Reply

Leave a Comment

Recipe Rating